सबसे खर्चीले मुख्यमंत्री के नाम से जाने जाएंगे जयराम ठाकुरः विक्रमादित्य सिंह

Spread the love

65 हजार करोड़ में से 45 हजार करोड़ रुपए का कर्ज जयराम सरकार ने लिया

सबसे खर्चीले मुख्यमंत्री के नाम से जाने जाएंगे जयराम ठाकुरः विक्रमादित्य सिंह

 शिमला।कांग्रेस महासचिव विक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि जयराम सरकार हवाई खर्च कर रही है। शिमला में एक प्रैस कांफ्रेंस में विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि इस सरकार ने अपने कार्यकाल में एक हजार से अधिक  गाड़ियां अपने लोगों के लिए खरीदीं। इसी तरह सरकार ने अन्य फिजूल खर्ची की, जिससे हिमाचल का कर्ज 65000 करोड़ रुपए हो गया है। इसमें भी 45 हजार करोड़ रुपए इसी सरकार ने लिया। अब सरकार फिर 2500 करोड़ रुपए का कर्ज ले रही है। उन्होंने कहा आने वाले समय में सबसे ज्यदा खर्चीले मुख्यमंत्री के रूप में जयराम ठाकुर को  हिमाचल में  याद रखा जाएगा।

सरकारी कार्यक्रमों के नाम पर चुनावी रैलियां कर रही सरकार

क विक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि जयराम सरकार हिमाचल स्थापना के 75 साल कार्यक्रम और आजादी के अमृतमहोत्सव के नाम पर चुनावी रैलियां कर रही हैं। इन कार्यकार्मों का काम अपनी चहेती कंपनियों को दिया जा रहा है, जिसके लिए करीब 50 करोड़ का प्रावधान इस सरकार ने किया है। विडंबना है कि जिन स्वतंत्रता सैनानियों ने इस देश को आजाद किया उनको याद तक नहीं किया जा रहा। इसी तरह हिमाचल की स्थापना और इसके विकास में अहम योगदान देने वाली पूर्व सरकारों को याद तक नहीं किया।  इन कार्यक्रमों में भाजपा के हारे नकारे हुए नेताओं को बैठाया जा रहा है जबकि स्थानीय कांग्रेस विधायकों को इन कार्यक्रमों में बुलाया तक नहीं जा रहा।

धर्मपुर और सिराज से आगे मुख्यमंत्री को कुछ नजर नहीं आ रहा

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि कोई भी मुख्यमंत्री पूरे प्रदेश का होता है, लेकिन जयराम ठाकुर को धर्मपुर और सिराज के आगे कुछ भी नजर नहीं आ रहा। विक्रमादित्य सिंह ने मुख्यमंत्री पर प्रदेश को क्षेत्रवाद के नाम पर बांटने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरे प्रदेश को एक मानती है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार और प्रेमकुमार धूमल को साधुवाद देते हुए कहा कि उन्होंने इस तरह हिमाचल को बांटने का काम नहीं किया।

कांग्रेस की चिंता करने की बजाए अपनी फिक्र करे सीएम और भाजपा

विक्रमादित्य सिंह ने कांग्रेस की गारंटियों पर मुख्यमंत्री और भाजपा नेताओँ द्वारा की जा रही बयानबाजी पर कहा कि उनको अपनी पार्टी और सरकार की चिंता करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जो वादे किए हैं वो जुमले नहीं है। वे गारंटी है जिसको जारी करने से पहले आर्थिक सलाहकारों और बड़े नेताओं ने व्यापक मंथन किया है।

 पहली कैबिनेट में ओल्ड पैंशन लागू करेगी कांग्रेस सरकार

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि उनकी सरकार सता में आते ही पहली कैबिनट मे ओल्ड पैंशन लागू करेगी। इसी तरह युवाओं के लिए 680 करोड़ के स्टार्ट-अप फंड का प्रावधान किया जाएगा, जिसमें युवाओं को बिना ब्याज का लोन दिया जाएगा। मंहगाई से राहत दिलाने और महिलाओं की सहायता के लिए उनको 1500 रुपए प्रति माह की भी कांग्रेस ने गारंटी दी है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी गौर रक्षा के नाम का ढोंग कर रही, हकीकत में इसके लिए कोई कदम नहीं उठाए। इसके विपरीत कांग्रेस सता में आने पर इसके लिए कदम उठाएगी। कांग्रेस सरकार दो रुपए प्रति किलो के हिसाब से गोबर खरीदेगी, इससे आवारा पशुओं का समाधान भी होगा और पशुपालकों की भी आय बढ़ेगी। इसी तरह बागवान उनके फलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी खुद तय करेंगे।

सरकार के पांच बड़े कार्य गिनाने की दी चुनौती

विक्रमादित्य सिंह ने जयराम सरकार को चुनौती दी है कि वह अपनी सरकार के पांच बड़े कार्य गिना दे। उन्होंने कहा कि आज बागवान, किसान सहित सभी वर्गों के लोग इस सरकार से परेशान है। यही वजह है कि बागवानों ने बीते दिनों सचिवालाय के घेराव किया था, यह गैर राजनीतिक था।

इस मौके पर कांग्रेस मीडिया विभाग के प्रमुख और कांग्रेस उपाध्यक्ष नरेश चौहान, महासचिव यशवंत छाजटा, कांग्रेस शहरी अध्यक्ष जितेंद्र चौधरी और कांग्रेस जिला ग्रामीण अध्यक्ष अतुल शर्मा भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post राज्यपाल ने ‘प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान’ में लिया भाग
Next post जब देश पर एक परिवार की तानाशाही नहीं चली तो पार्टी में डिक्टेटरशिप हावी: सुरेश कश्यप
Close