चमियाणा अस्पताल में सभी सुविधाओं का किया जाए सृजन-डाॅ0 तंवर

Spread the love

चमियाणा अस्पताल में सभी सुविधाओं का किया जाए सृजन-डाॅ0 तंवर
श्रेय लेने की होड़ में अधूरे अस्पताल भवन का लोकापर्ण न करें  सरकार -डाॅ0 तंवर
शिमला 06 सितंबर । शिमला के समीप चमियाणा में निर्मित हो रहे अटल बिहारी मेडिकल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का निर्माण कार्य अंतिम चरण पर  है जिसमें तेजी लाने की आवश्यकता है । यह बात हिमाचल प्रदेश किसान सभा के राज्याध्यक्ष डाॅ0 कुलदीप तंवर ने मंगलवार को निर्माणाधीन सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का दौरा करने के उपरांत जारी बयान में दी । उन्होने सरकार से आग्रह किया है कि अधूरे भवन का उद्घाटन न किया जाए। बता दें कि इस अस्पताल का श्रेय पूर्व और वर्तमान सरकारें लेने की फिराक में हैं । कांग्रेस का कहना है कि यह अस्पताल उनके कार्यकाल 2017 में शुरू हुआ था । हालांकि इस अस्पताल के लिए सारा पैरा भारत सरकार से आ रहा है ।
डाॅ0 कुलदीप तंवर ने बताया कि आईजीएमसी में दिन प्रतिदिन बढ़ रहे रोगियों के दबाव को कम करने के लिए चमियाणा में अटल बिहारी मेडिकल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का भारत सरकार के सौजन्य से निर्माण किया जा रहा है ताकि आईजीएमसी का दबाव भी कम हो और लोगों को बेहतरीन गुणात्मक विशेषज्ञ स्वास्थ्य सेवाएं भी मिल सके । बताया कि बीते करीब छः वर्षों में अबतक केवल दस मंजिला भवन ही बन पाया है जिसमें भी कुछ कार्य शेष बचा है । इसके अतिरिक्त अभी तक हॉस्पिटल के साथ न तो डॉक्टरों के लिए आवास सुविधा है और न ही तीमारदारों के लिए कैंटीन तथा  ब्लड बैंक की सुविधा उपलब्ध नहीं है । यही नहीं भटठाकूफर से अस्पताल तक आने वाली सड़क की भी वन मंत्रालय से क्लीयरेंस नहीं मिल पाई है । जिसके चलते यह करीब डेढ किलोमीटर लंबा रोड़ अभी भी कच्चा है । डाॅ0 तंवर का कहना है कि रेजिडेंट होस्टल न होने से डाॅक्टरों को दिक्कत पेश आएगी ।
डाॅ0 तंवर ने बताया कि आगामी चुनाव को देखते हुए वर्तमान सरकार आनन फानन में इस अधूरे अस्पताल भवन का उद्घाटन कर सकती है । उन्होने कहा कि श्रेय लेने  की होड़ में अधूरे भवन के उद्घाटन करने से  लोगों को इस अस्पताल का लाभ नहीं मिल पाएगा । बताया यह अस्पताल विशेषकर कसुंपटी क्षेत्र के लोगों के लिए काफी लाभदायक सिद्ध होगा ।
आईजीएमसी शिमला के प्रधानाचार्य प्रो0 रजनीश पठानिया ने बताया कि अटल बिहारी मेडिकल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का निर्माण कार्य करीब पूरा हो चुका है । इसके क्रियाशील होने पर रक्त बैंक, कैंटीन भी खोल दी जाएगी । उन्होने बताया कि इस अस्पताल में कार्डियलाॅजी, न्यूरोलाॅजी, सर्जरी, नफरोलाॅजी, गैस्ट्रोलाॅजी सहित दस विभाग होगें तथा लोगों को सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध होगी ।
000
फोटो – अटल बिहारी मेडिकल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल चमियाणा का विहंगम दृष्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post भाजपा प्रबंधन समिति की बैठक 6 सितंबर 2022 को दीपकमल चक्कर में होगी
Next post विश्व स्तरीय पहचान कायम करने में सक्षम हो इस दृष्टि से नई शिक्षा नीति अत्यंत प्रभावी
Close