एसजेवीएन ने पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिष्ठित ग्रीनटेक अवार्ड हासिल किया

Spread the love

एसजेवीएन ने पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिष्ठित ग्रीनटेक अवार्ड हासिल किया
नन्‍द लाल शर्मा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एसजेवीएन ने बताया कि कंपनी को पर्यावरण संरक्षण में उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए ग्रीनटेक अवार्ड से सम्मानित किया गया। यह अवार्ड एसजेवीएन द्वारा अपनी निर्माणाधीन परियोजनाओं, विशेष रूप से उत्तराखंड में 60 मेगावाट की नैटवाड़ मोरी जलविद्युत परियोजना,हिमाचल प्रदेश में 210 मेगावाट लूहरी चरण-I जलविद्युत परियोजना और 66 मेगावाट धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना में अपनाए गए पर्यावरण संरक्षण उपायों के लिए प्रदान किया गया है। नन्‍द लाल शर्मा ने कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि इस प्रकार के अवार्ड बिजनेस उत्कृष्टता और सतत शीलता के मूल्‍यों में हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाते है तथा एसजेवीएन के अनुकरणीय संचालन और प्रणालियों को मान्‍यीकृत करते हैं।पर्यावरण संरक्षण के प्रति प्रतिबद्धता प्रदर्शित करने वाले संगठनों को यह प्रतिष्ठित ग्रीनटेक अवार्ड प्रदान किए जाते हैं। विशिष्ट पेशेवरों, न्यायाधीशों और प्रतिष्ठित हस्तियों से युक्त पैनल द्वारा अवार्ड के लिए नामांकित संगठनों का मूल्यांकन उनके द्वारा अपनाई गई पर्यावरण प्रबंधन योजनाओं के लिए किया जाता है जिनका समुदाय पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता हो। नन्‍द लाल शर्मा ने कहा कि एसजेवीएन के पास जलविद्युत, सौर और पवन परियोजनाओं का एक सशक्‍त नवीकरणीय ऊर्जा पोर्टफोलियो है और 2016.5 मेगावाट का उत्पादन पोर्टफोलियो पूरी तरह से ग्रीन ऊर्जा पर आधारित है। एसजेवीएन ने पर्यावरणीय जोखिमों को कम करने के लिए सभी लागू पर्यावरणीय कानूनों और मानदंडों का निरंतर अनुपालन किया जा रहा है। 1500 मेगावाट नाथपा झाकड़ी जलविद्युत स्टेशन और 412 मेगावाट रामपुर जलविद्युत स्टेशन पर उल्लेखनीय पर्यावरण प्रबंधन उपाय किए गए जिन्हें राष्ट्रीय स्तर और विश्व बैंक द्वारा मान्‍यीकृत किया गया है। एसजेवीएन की ओर से,  वी. शंकरनारायणन, कार्यकारी निदेशक ने अवार्ड प्राप्त किया। वर्ष 2000 में स्थापित ग्रीनटेक फाउंडेशन एक गैर-लाभकारी संगठन है जो कार्यस्थल पर सुरक्षा, पर्यावरण संरक्षण और जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करने में उत्कृष्ट प्रदर्शन के को पहचानने और मान्‍यीकृत करने के लिए प्रतिबद्ध
है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post अव्यस्क अनाथ बच्चों की सम्पति की रक्षा के लिए गठित जिला स्तरीय समिति की बैठक का आयोजन किया गया।
Next post भाजपा के सौदान सिंह को हिमाचल प्रदेश चुनाव प्रभारी नियुक्त
Close