हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा मिलने से SC वर्ग के अधिकारों पर नहीं पड़ेगा कोई असर

Spread the love

हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा मिलने से SC वर्ग के अधिकारों पर नहीं पड़ेगा कोई असर
केंद्र सरकार ने हाटी समुदाय की मांग मान कर उनके साथ न्याय किया है

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर ने सिरमौर ज़िले के हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा दिलाने कें लिये पीएम मोदी का आभार जताया। मीडियो से बातचीत के दौरान सीएम ने कहा हिमाचल के इस क्षेत्रवासियों की लंबे अरसे से चली आरही मांग को केंद्र सरकार ने मान कर उनके साथ न्याय किया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि इस इलाके के अनुसूचित जाति के लोगों को आरक्षण सूची में नहीं डाला है। उनके अधिकार पर ना तो किसी तरह का बदलाव होगा और ना ही कोई हस्तक्षेप किया जाएगा । आरक्षण के उनके लाभ पहले की तरह जारी रहेंगे। जाहिर है अनुसूचित जाति के लोग हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा देने का विरोध कर रहे हैं।

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि उत्तराखंड के जौनसार- बाबर क्षेत्र और हिमाचल के सिरमौर ज़िले के हाटी समुदाय के लोगों की संस्कृति, खानपान, और रीति रिवाज आपस में मिलते है। दशकों बाद अब मोदी सरकार के ऐतिहासिक निर्णय के साथ क्षेत्र की करीब 1लाख 60 हज़ार की आबादी को आरक्षण का लाभ मिलेगा । शेड्यूल एरिया के लिए सरकार आने वाले समय मे प्रयास करेगी। सीएम ने कहा डबल इंजन सरकार ने हिमाचल के बड़े प्रोजेक्ट और योजनाओं में मदद की है।

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर ज़िले के 1,59,716 आबादी को आरक्षण का लाभ मिलेगा। सिरमौर ज़िले के चार विधानसभा क्षेत्रों के पच्छाद, रेणुका, शिलाई, पांवटा साहिब के लोग जनजातीय आरक्षण के दायरे में होंगे शामिल।

पछाद- 27,261

रेणुका- 50,475

शिलाई -60,775

पांवटा साहिब – 25,323

इस क्षेत्र के तहत 91,446 लोग अब क्षेत्र में अनुसूचित जाति के लोग रह गए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post भाजपा सभी संसदीय क्षेत्रों से प्रचार वाहनों को हरी झंडी दिखाएगी : कटवाल
Next post एसजेवीएन ने 100 मेगावाट राघनेस्दा सौर परियोजना के लिए
Close