प्रवर्तन निदेशालय ने अल्केमिस्ट ग्रुप के फर्जीवाड़ी में संपत्ति की अटैक

Spread the love

शिमला। हिमाचल में निदेशालय ने अल्केमिस्ट ग्रुप के फर्जीवाड़ा मामले में बड़ी कार्रवाई की है। हिमाचल, हरियाणा और मध्य प्रदेश में प्रवर्तन निदेशालय अल्केमिस्ट ग्रुप के फर्जीवाड़ा मामले में कंपनी की 29 करोड़ की चल और अचल संपत्ति को अटैच किया है। इनमें हरियाणा के पंचकूला में 18 फ्लैट, हिमाचल प्रदेश के शिमला ग्रामीण और सिरमौर में कुल 328 बीघा जमीन भी शामिल है। ग्रामीण के क्योंथल और सिरमौर 250 बीघे और 78 बीघे की यह जमीन शामिल है। बता दें कि अल्केमिस्ट ग्रुप कंपनी के मालिक टीएमसी  के पूर्व राज्य सांसद केडी सिंह हैं। अल्केमिस्ट ग्रुप कंपनी ने हिमाचल, हरियाणा के अलावा मध्य प्रदेश में भी प्रॉपर्टी खरीदी थी। ईडी की जांच में पता चला कि अल्केमिस्ट समूह ने झूठे वादों पर पीड़ितों/निवेशकों से अर्जित अपराध की आय से संपत्ति करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में कई कंपनियां बनाई थीं। यह भी पता चला है कि अलकेमिस्ट समूह द्वारा तीसरे पक्ष के नाम पर जमीन के बड़े टुकड़े खरीदे गए थे ताकि ऐसी संपत्तियों के वास्तविक स्वामित्व को छिपाया जा सके। ईडी ने हाल ही में रुपये भी कुर्क किए थे। ईडी द्वारा इस मामले में कई एफआईआर दर्ज की गई हैं। इनमें आरोप लगाया गया है कि समूह ने अलकेमिस्ट होल्डिंग लिमिटेड और अलकेमिस्ट टाउनशिप इंडिया लिमिटेड जैसी अपनी कंपनियों में लोगों से 1,800 करोड़ रुपए से अधिक की राशि एकत्र की। इसके साथ ही कंपनी के द्वारा लोगों से निवेश पर उच्च ब्याज दर के अलावा अच्छा रिटर्न देने के साथ फ्लैट, विला, प्लॉट देने का झूठा वादा भी किया गया। हालांकि, निवेशकों/जनता को उनका पैसा कभी नहीं लौटाया गया और धनराशि को अलकेमिस्ट समूह की विभिन्न समूह कंपनियों में भेज दिया गया। अलकेमिस्ट समूह का नेतृत्व तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के पूर्व राज्यसभा सदस्य कंवर दीप सिंह कर रहे हैं। कुर्क की गई संपत्तियों की कुल कीमत 29.45 करोड़ रुपए है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post विधायक और पिता की अंतरिम ग्रिम जमानत अवधि  26 अप्रैल तक
Next post भाजपा न्याय एवं विधि विभाग की प्रदेश कार्यकारिणी घोषित
Close